Network marketing क्या है? इसे विवादित योजना क्यों कहते हैं?

हेलो दोस्तों, आज हम लोग Network marketing क्या है, Network Marketing in Hindi. इसके बारे में विस्तार से जानकारी प्राप्त करेंगे। इसके विभिन्न प्रकार के प्रश्न जो अक्सर लोगों के मन में बार-बार आते हैं।

जैसे कि Network Marketing क्या है? Network Marketing किसे कहते हैं? और Network Marketing किस तरीके से काम करता है ? ऐसे ही अनेको सवालों के जवाब आपको मिलेंगे। इसलिए इस पोस्ट को ध्यान से पढ़े।

दोस्तो मैं आपसे वादा करता हूं कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको नेटवर्क मार्केटिंग से संबंधित कोई भी प्रश्न नहीं करेंगे।

Network Marketing का इतिहास क्या है ?

नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में विस्तार से जानने से पहले Network Marketing के इतिहास के बारे में जानने का प्रयास करते हैं। आखिर नेटवर्क मार्केटिंग कहां से आया है?

Network marketing पद्धति को सबसे पहले 1920 में कैलिफोर्निया के एक विटामिन (Vitamin) नामक कंपनी ने शुरू किया गया था। जो बहुत ही सफल रणनीति साबित हुई थी। इस रणनीति के कारण कंपनी को बहुत ही ज्यादा लाभ प्राप्त हुआ था।

धीरे-धीरे लोग इस मार्केटिंग रणनीति को समझ कर ना अपनी कंपनी में लागू करने लगे।

आगे चलकर इस व्यापारिक योजना का उपयोग पूरी दुनिया में होने लगा है।

भारत में लगभग 1995 में Network Marketing की नींव रखी गई थी। बिजनेस के क्षेत्र में नेटवर्क मार्केटिंग बहुत ही प्रसिद्ध स्ट्रेटजी माना जाता है। आजकल भारत में नेटवर्क मार्केटिंग बहुत ही तेजी से फैल रहा है।

शुरुआती समय में तो इस बिजनेस में कोई भी रूल रेगुलेशन नहीं होता था। लेकिन जब बहुत सारे धोखाधड़ी के केस सामने आने लगे।

तब भारत सरकार ने इस इंडस्ट्री में 12 सितम्बर 2016 को कुछ रूल और रेगुलेशन जारी कर दी। FCCI और KPMG संस्था की एक रिपोर्ट के मुताबिक 2025 तक नेटवर्क मार्केटिंग लगभग 625 बिलियन अर्थात 62500 करोड़ की इंडस्ट्री हो जाएगी।

जो कि अपने आप में एक बहुत ही बड़ा मार्केट है। जिसे हर कोई कैप्चर करना चाहेगा।

Network Marketing के बहुत से नाम है। जैसे कि Direct Selling Business, Chains System Business इत्यादि।

Network marketing को Multi Level Marketing (MLM) भी कहा जाता है।

Network marketing क्या है?

Network Marketing
Network marketing Chain

नेटवर्क मार्केटिंग में लोगों का एक समूह होता है। यह लोग जंजीर (Chain) की तरह आपस में जुड़े (Connected) होते हैं। इस Chain में जितने अधिक लोग जुड़ेंगे कंपनी को उतना ही अधिक फायदा होता है।

लोगों के इस समूह का उपयोग करके कंपनी अपने प्रोडक्ट को बाजार में आसानी से बेच पाती है। प्रोडक्ट को बेचने पर कंपनी कमीशन देती है।

जो व्यक्ति जितना ज्यादा प्रोडक्ट को बेचता है उसे उतना अधिक कमीशन मिलता है।

किसी भी सामान को बेचने के लिए दो मार्केटिंग स्ट्रैटेजिस सबसे कारगर साबित हुई है।

1. पारंपरिक तकनीक (Traditional Marketing) :

Traditional Marketing में कंपनी अपने सामान को डिस्ट्रीब्यूटर, रिटेलर, दलाल इत्यादि जैसे मिडल मैन के माध्यम से प्रोडक्ट को बेचती है। जिसमें उन्हें भारी कमीशन भी देना पड़ता है।

इसके साथ साथ अपने प्रोडक्ट को लोगों के नजरों में लाने के लिए प्रचार-प्रसार भी करना पड़ता है। जिसमें कंपनी को Advertising के नाम पर बहुत पैसे खर्च करने पड़ते हैं।

2. Network Marketing:

Network Marketing में कंपनी को ज्यादा पापड़ नहीं बेलना पड़ता है। क्योंकि मार्केट में चैन की तरह लोगों का एक पूरा जाल बिछा होता है।

कंपनी अपने प्रोडक्ट को इन लोगों के माध्यम बेचती है। प्रोडक्ट बेचने पर इन्हें कमीशन भी मिलता है। लोग जितना ज्यादा प्रोडक्ट बेचते हैं उन्हें उतना अधिक कमीशन मिलता है।

इस प्रकार लोग अधिक कमीशन पाने के लिए ज्यादा से ज्यादा प्रोडक्ट बेचने का प्रयास करते हैं।

फल स्वरूप कंपनी का प्रोडक्ट बाजार में बिकता है। और कंपनी प्रॉफिटेबल बनती है।

इसे पिरामिड परियोजना भी कहा जाता है। क्योंकि नेटवर्क मार्केटिंग पद्धति में पिरामिड के ढांचे की तरह लोगों का जाल बिछाया जाता है। इस पद्धति का उपयोग व्यापार को बहुत तेजी से बढ़ाने के लिए किया जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग पद्धति में सामान बेचने वालों को कोई सैलरी नहीं दिया जाता है।

जी हां,

इस पद्धति में सैलरी की जगह सेल्समैन को सामान के मूल्यों का कुछ परसेंट का हिस्सा कमीशन के तौर पर दिया जाता है।

उदाहरण के लिए,

अगर किसी वस्तु का मूल्य ₹100 है। कंपनी के अनुसार अगर इस वस्तु को कोई व्यक्ति बेचता है तो उसे 10% परसेंट का कमीशन दिया जाएगा।

मतलब अगर कोई व्यक्ति उस ₹100 की वस्तु को बेचेगा तो उसे 10% अर्थात ₹10 दिया जाएगा।

अगर वह व्यक्ति उस वस्तु के 100 नग (piece) को बेचता है तो उसे ₹1000 दिया जाएगा।

कभी-कभी कोई व्यक्ति बहुत ज्यादा सामान बेचता है तो वह सैलरी की तुलना में पैसे ज्यादा कमा लेता है।

नेटवर्क मार्केटिंग में लोगों की कमाई उनके मेहनत पर निर्भर करता है। जबकि ट्रेडीशनल मार्केटिंग में एक निश्चित सैलरी दिया जाता है।

Network marketing को विवादित व्यापारिक योजना क्यों कहा जाता है?

नेटवर्क मार्केटिंग एक ऐसा मार्केटिंग तकनीकी है जिसमें लाखों लोग पैसे लगाते हैं लेकिन उनमें से सिर्फ कुछ ही लोग सफल हो पाते हैं।

इस मार्केटिंग पद्धति में जो व्यक्ति सबसे पहले किसी नेटवर्किंग कंपनी को ज्वाइन करता है वहीं ज्यादा से ज्यादा पैसे कमा पाता है।

बाकी के जो लोग पिरामिड ढांचे के जितना नीचे रहते है वह उतना ही कम पैसा कमा पाता है।

बहुत से ऐसी कंपनियां हैं जो नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के नाम पर धोखाधड़ी कर चुकी है। जिसमें लोगों के करोड़ों रुपए लेकर भाग गए हैं।

कंपनियों के इन्हें धोखाधड़ी मामले को देखते हुए कुछ लोग नेटवर्क मार्केटिंग में पैसा लगाना नहीं चाहते हैं।

जो नए लोग हैं जिनको नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में ज्यादा पता नहीं रहता है वह लोग बिना सोचे समझे ऐसे कंपनी में पैसा लगा देते हैं।

Federal Trade Commission वेबसाइट के मुताबिक लगभग 95% से 99% लोग Network marketing में अपने पैसे गवां देते हैं। साफ तौर पर इनका कहना है सिर्फ गिने चुने लोग ही नेटवर्क मार्केटिंग में सफल हो पाते हैं।

इस कंपनी का यह भी मानना है कि बिना सोचे समझे किसी भी कंपनी में अपना पैसा लगाना गलत बात है। सबसे पहले आप जिस कंपनी में अपना पैसा लगा रहे हैं उस कंपनी के बारे में पूरी जानकारी इकट्ठा अवश्य कर ले।

Network marketing को पिरामिड marketing क्यों कहा जाता है?

Network marketing को पिरामिड मार्केटिंग इसलिए कहा जाता है क्योंकि जब लोगों द्वारा नेटवर्किंग बनता है तो एक पिरामिड रुपी संरचना का निर्माण होता है।

Network marketing क्या है
Network marketing Pyramid shape

जो कंपनी की शुरुआत करता है वह सबसे ऊपर रहता है उसके साथ 4 लोग जुड़ते हैं फिर इन 4 लोगों में से हर व्यक्ति 2 या 4 अन्य लोगों को जोड़ता है। उपरोक्त फोटो में अच्छे से दर्शाया गया है।

मतलब चार और लोग इस कंपनी के साथ जुड़ गए। इन 4 लोगों में से हर एक व्यक्ति अन्य 4 या अधिक लोगों को जोड़ता है इस तरह से एक बहुत बड़ा जन जाल का निर्माण होता है। जिसके फलस्वरूप पिरामिड की तरह संरचना का निर्माण होता है।

Network marketing में पिरामिड की इसी संरचना के निर्माण होने के कारण इसे पिरामिड मार्केटिंग भी कहा जाता है।

भारत में कौन-कौन से Network marketing कंपनीयां है?

Networking marketing में व्यापार बहुत ही तेजी से विकास करता है। क्योंकि सब लोग ज्यादा पैसे कमाने के लिए जल्दी से जल्दी बहुत बड़ा नेटवर्किंग (Networking) बनाना चाहते हैं। जिससे नेटवर्किंग पद्धति का विकास होने में ज्यादा समय नहीं लगता है।

इन्हीं कारणों से भारत में लगभग 450 से अधिक रजिस्टर Network marketing कंपनियां है।

आप इस { https://rb.gy/s1p4qh } वेबसाइट पर जाकर पूरी 450 रजिस्टर Network marketing कंपनी क्या है यह देख सकते हैं।

हम आपको पूरी 450 कंपनियों के नाम तो नहीं बता सकते लेकिन कुछ गिने-चुने कंपनियों के नाम जरूर बता सकते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियों के लिस्ट कुछ इस प्रकार है,

  1. Gyankul Network Private Limited.
  2. Unicity Health Pvt Ltd.
  3. Sunrider India Pvt Ltd.
  4. Direct Bazaar Pvt. Ltd.
  5. Forever Living Imports (India) Pvt. Ltd.
  6. M.P. Dailyneed Multitrade Pvt. Ltd.
  7. Healing Touch Marketing Pvt. Ltd.
  8. Maxgrow Biotech Pvt Ltd.
  9. Relibond Pvt.Ltd.
  10. Osmose Technology Pvt Ltd.

इन कंपनियों में से osmose Technology Pvt Ltd कंपनी कुछ पहले काफी प्रसिद्ध थी। यह कंपनी 14 दिसंबर 2019 में शुरु की गई।

देखते-देखते बहुत ही तेजी से इस कंपनी ने अपने मार्केट का विस्तार किया। इस कंपनी के साथ बहुत से लोग जुड़े। अभी भी ज्यादातर लोग इस कंपनी के साथ जुड़ते जा रहे हैं।

हालांकि इस कंपनी के असली और नकली होने पर अभी भी सवाल खड़ा हो रहा है। लेकिन Osmose Technology Pvt Ltd कंपनी की तरफ से कोई भी प्रतिक्रिया अभी नहीं दी गई है।

Osmose Technology Pvt Ltd के बारे में संपूर्ण जानकारी।

Network marketing का फायदा क्या है?

  1. 9 से 5 नौकरी (job) :- एक सर्वे के मुताबिक लगभग 80% से 90% लोग 9 से 5 बजे वाले नौकरी को पसंद नहीं करते हैं। लेकिन वे लोग मजबूरी में यह काम करते हैं। नेटवर्क मार्केटिंग में आपको 9 से 5 job करने की जरूरत नहीं पड़ती है।
  2. मन मुताबिक काम करना :- जब आप कहीं नौकरी करते हैं तो आपको कंपनी के मन मुताबिक काम करना पड़ता है। लेकिन नेटवर्क मार्केटिंग में आप अपने हिसाब से काम कर सकते हैं। आप अपनी सैलरी खुद निश्चित कर सकते हैं।
  3. सुरक्षित :- अगर आप किसी कंपनी में काम करते हैं और आपका काम उस कंपनी के मन मुताबिक नहीं हो पाता है, तो आपकी नौकरी पर खतरा मंडराने लगता है। वही नेटवर्क मार्केटिंग मैं आप अपने मन मुताबिक काम करते हैं। आप जितना काम करेंगेे आपको उतना ही ज्यादा पैसे मिलेगा।

Network marketing के नुकसान क्या है?

  1. विश्वसनीयता :- ज्यादातर नेटवर्क मार्केटिंग कंपनियां धोखाधड़ी (fraud) करती है। शुरुआती दौर में बड़े-बड़े सपने दिखाकर लोगोंं से पैसे लुटकर भाग जाते हैं। जिसके कारण लोगों के मन में इसकी विश्वसनीयता पर सवाल उठते रहते हैं।
  2. गुमराह :- नेटवर्क मार्केटिंग में जिस व्यक्ति का जितना बड़ा नेटवर्क रहता है वह उतना ही ज्यादा पैसे कमाता है। मतलब अगर कोई इस कंपनी को शुुुआती दौर में ज्वाइन कर लेता है तो उसे ज्यादा पैसााा मिलता है । कंपनी वाले ऐसेे लोगों का सेमिनार (सभा) करवाते हैं और लोगों में यह मैसेेज देने की कोशिश करते हैं की नेटवर्क मार्केटिंग बहुत ही अच्छा काम है। ज्यादातर लोोग इनकी जाल में फंस जाते हैं जिसके कारण इन्हें भी नुकसान उठाना पड़ता है।
  3. जोखिम :- नेटवर्क मार्केटिंग में उतना ही पैसाा लगाना चाहिए जितना अगर आप से खो जाए तो आपको कोई दुख ना हो। यह बहुत ही जोखिम भरा काम है, यह जुआ की तुलनात्मक होता है, अगर आपका भाग्य और इसके साथ साथ सेल्समैन का कौशल आपके साथ है तो आप बहुत पैसे कमाएंगे नहीं तो आप बहुत पैसे गवां भी सकते हैं ।

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी ज्वाइन करने से पहले जानने योग्य जरूरी बातें:-

कुछ बातें जिन्हें आप समझ कर यह निश्चय कर सकते हैं कि कौन सी Network marketing कंपनी सही है और कौन सी Network marketing कंपनी गलत है।

आप इसे ध्यान से पढ़ें,

क्योंकि यह आपके लिए बहुत ही ज्यादा उपयोगी साबित होगा।

  1. नेटवर्क मार्केटिंग से जुड़ने से पहले आपको कंपनी के बारे में संपूर्ण जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है। क्योंकि आप उस कंपनी में अपना पैसा लगाने जा रहे हैं।
  2. आपको उस कंपनी के संस्थापक और मैनेजमेंट करने वाले व्यक्ति के बारे में भी जानकारी प्राप्त करना चाहिए।
  3. वह कंपनी पहले क्या करती थी वर्तमान में क्या कर रही है और भविष्य में क्या-क्या करने वाली है इसके बारे में भी जितना हो सके उतना जानकारी तो इकट्ठा कर ही लेना चाहिए।
  4. हो सके तो इस कंपनी से ज्यादा दिनों तक जुड़े हुए कुछ लोगों से सलाह परामर्श भी कर ले।
  5. क्या आपको इस कंपनी के साथ जुड़ने पर किसी प्रकार की ट्रेनिंग दी जाती है, अगर हां तो वह ट्रेनिंग किस तरह से दी जाती है। क्या आप उस ट्रेनिंग से संतुष्ट हैं।?

उपरोक्त बताए गए जानकारियों के हिसाब से ही Network marketing को join करना चाहिए।

क्योंकि आजकल Network marketing में ज्यादातर कंपनियां खुद के बारे में ही सोच रही है।

Network marketing company join करना चाहिए या नहीं?

अगर आप ही समझ गए होंगे कि Network Marketing or MLM क्या है? तो अब समझ लेते हैं इसे ज्वाइन करना चाहिए या नहीं।

नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करना चाहिए या नहीं इस प्रकार के सवाल लगभग हर किसी के मन में आते हैं। बहुत कम लोग ही होते हैं जो इसके बड़े-बड़े बातों को सुनकर बिना सोचे समझे तुरंत ही Network marketing join कर लेते हैं।

हमने नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में लगभग हर नुकसान तथा फायदे बता दिए हैं। नुकसान और फायदे को ध्यान में रखते हुए आप खुद निश्चय कर सकते हैं की नेटवर्क मार्केटिंग ज्वाइन करना चाहिए या नहीं।

आप Network marketing में उतना ही पैसा लगाएं जितना पैसे की डूब जाने पर आपको उस नुकसान को सहने की क्षमता हो।

अगर आप इन चुनौतियों को स्वीकार करते हैं तो आप नेटवर्क मार्केटिंग में एक बार के लिए प्रयास कर सकते हैं।

Network Marketing की शुरुआत कैसे करें?

किसी भी कंपनी की शुरुआत करने से पहले बहुत सारे प्लानिंग की जरूरत पड़ती है।

इसलिए आप अपने सहयोगियों के साथ बैठकर नेटवर्क मार्केटिंग संबंधित जानकारियों को इकट्ठा करें। और फिर एक कॉपी और पेन लेकर अपने पूरे बिजनेस की प्लानिंग करें।

कंपनी को स्टार्ट करने से पहले इस कंपनी के बारे में 3-4 साल आगे की प्लानिंग अवश्य करें। बाकी आप जैसे जैसे करते रहेंगे वैसे वैसे आपको रास्ता दिखता जाएगा।

सबसे पहले आप अपनी कंपनी का कोई नाम डिसाइड करें। इसके बाद सोशल मीडिया पर एक ऐसा ग्रुप बनाएं जिसमें आप लोगों से डायरेक्ट बात कर सके।

इसके साथ साथ शुरुआती दौर में लोगों को अपनी तरफ जोड़ने के लिए कुछ अतिरिक्त लाभ दे। ताकि वह आप से जुड़े रहे।

आपके साथ जुड़े हुए लोगों को हमेशा मोटिवेट करते रहें। जिससे वह आपके साथ काम करने में असहयोग महसूस ना करें।

सोशल मीडिया के माध्यम से आप अपनी कंपनी का जितना हो सके उतना प्रचार प्रसार करें। जिससे आपकी कंपनी के बारे में लोगों को अधिक से अधिक जानकारी हो।

हमेशा याद रखें कि,

बड़ी बिजनेस की शुरुआत छोटे से होती है।

-Rechard Branson

निष्कर्ष :-

आपने Network marketing क्या है? Network Marketing in Hindi, और इसके विभिन्न अंगों के बारे में जानकारी प्राप्त कर लिया है। अब इसके निष्कर्ष पर आते हैं।

मेरे हिसाब से किसी भी कंपनी के बारे में संपूर्ण जानकारी के बिना उस कंपनी में अपना पैसा इन्वेस्ट करना सही नहीं है।

Network marketing में बहुत से ऐसे धोका (fraud) हुए हैं जिसके कारण इससे लोगों का विश्वास हट गया है।

ज्यादातर लोग बिना किसी जानकारी के ही लोगों के बहकावे में आकर किसी भी कंपनी में पैसा लगा देते हैं। इन्हीं लोगों के साथ धोखाधड़ी होता है।

अंत में मैं वहीं बात फिर दोहराना चाहूंगा कि बिना संपूर्ण जानकारी के Network marketing में पैसा कभी ना लगाएं।

Network Marketing in Hindi से संबंधित किसी भी प्रकार का सवाल है तो कमेंट में अवश्य पूछें।

4 Comments
Ajay kumar pal नवम्बर 15, 2020
|

कंपनी का फ्यूचर प्लान क्या हैं ?

Harkesh Rathore अक्टूबर 19, 2020
|

Kya ak bar paise lga dene k bad koi target rahega..

Scroll to Top