बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग

बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग के लिए 10 महत्वपूर्ण बातें।

अगर आप अपने जीवन में तेजी से विकास करना चाहते हैं तो आपको बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग की बहुत ही जरूरत होती है।

इस दुनिया में आप जितने भी सफल लोगों को देखते हैं सभी लोगों में एक स्किल्स, जो है पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स जरूर मिलेगी।

ये सभी लोग बचपन से ही पब्लिक स्पीकर नहीं थे। ये लोग समय के साथ पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स को अपने अंदर जागरूक किया। जिसकी वजह से उन्हें बड़ा मुकाम हासिल हुआ।

जिंदगी कहीं ना कहीं या कभी ना कभी 100 या 200 से अधिक लोगों के सामने बोलने पर मजबूर करती है। कभी-कभी तो हजारों से भी अधिक लोगों के सामने बोलने की जरूरत पड़ती है।

जो लोग अपनी प्रवक्ता के दम पर 100, 200 या हजारों लोगों को लुभा लेते हैं वे प्रगति की ओर तेजी से कदम बढ़ाते हैं। क्योंकि लोग इन्हें पसंद करने लगते हैं जिससे वह व्यक्ति चाहे जिस भी क्षेत्र में कार्यरत है उसे प्रमोशन (विकास) मिलता रहता है।

वही जिन लोगों में पब्लिक स्पीकिंग की प्रवृत्ति नहीं पाई जाती है वे लोग विकास तो करते हैं लेकिन विकास की प्रक्रिया बहुत ही धीरे होती है।

ऐसे लोगों को चिंता करने की कोई बात नहीं है वे लोग अपने जीवन में कुछ बदलाव करके एक अच्छा पब्लिक स्पीकर बन सकते हैं।

मैं आपको 10 ऐसी बातें बताऊंगा जिन्हें आप अपने जीवन में उतार कर एक बेहतरीन पब्लिक स्पीकर बन सकते हैं।

सबसे पहले हम समझते हैं कि पब्लिक स्पीकिंग क्या है ?

जब कोई व्यक्ति किसी गुट या समूह के सामने खड़ा होकर अपनी हर एक बात को सक्षम तथा सफलता पूर्वक लोगों तक पहुंचाने में सफल रहता है तो उसे पब्लिक स्पीकर कहा जाता है। उस व्यक्ति के बोलने की प्रक्रिया को पब्लिक स्पीकिंग कहा जाता है।

बेहतरीन और आकर्षक पब्लिक स्पीकिंग आपके बोलने के तरीके, आपके शरीर के हाव भाव, बोलते हुए लोगों के साथ घुल-मिल जाना तथा समूह में स्थित हर एक व्यक्ति की ओर देख कर बात करना इत्यादि मूल्यों पर निर्भर करता है।

पब्लिक स्पीकिंग का क्या महत्व है?

अगर आपके अंदर एक बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स है तो आप जिंदगी में कोई भी मुकाम हासिल कर सकते हैं।

इस स्किल्स के कारण आप अपनी बातों को लोगों के सामने आसानी से रख पाएंगे। जिससे लोग आपकी बात मानने लगेंगे। इस तरह से आपके अंदर एक लीडरशिप स्किल्स जागृत होगी।

यह स्किल्स आपको राजनीति, बिजनेस डील, समारोह, महोत्सव इत्यादि जगहों पर काम आएगी। जिससे लोगों में आप की प्रति विश्वास की भावना उत्पन्न होगी।

आपके संकट के समय में ये लोग आपके साथ खड़ा रहने के लिए हमेशा तैयार रहेंगे। जिसके बदौलत आप अपनी एक टीम बनाकर अपने बिजनेस को तेजी से आगे बढ़ा सकते हैं।

पब्लिक स्पीकिंग किसे सीखना चाहिए?

जिस तरह से हर एक व्यक्ति को उचित शिक्षा की आवश्यकता होती है उसी तरह से हर एक व्यक्ति को पब्लिक स्पीकिंग सीखना चाहिए। ताकि वह अपनी जिंदगी में ऊंचाइयों को छू सके।

हर व्यक्ति चाहे वह बूढ़ा हो, जवान हो या एक छोटा बच्चा क्यों ना हो लगभग सभी लोगों को पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स सीखना चाहिए।

क्योंकि इस स्किल्स की वजह से लोग अपनी बातों को किसी दूसरे लोगों के साथ खुलकर साझा कर पाते हैं। लोग हमेशा जागरूक रहते हैं तथा अपने आईडियाज (ideas) लोगों के साथ निडरता से शेयर कर पाते हैं।

पब्लिक स्पीकिंग सिखने के लिए 10 जरुरी बातें

अगर आप नीचे बताए गए, ये 10 बातें अपने जीवन में प्रयोग करते हैं तो आपको पहले दिन से ही बदलाव दिखने लगेंगे। जैसे-जैसे आप इन्हें प्रैक्टिस करेंगे। आपके अंदर एक प्रभावकारी पब्लिक स्पीकिंग स्किल्स निर्मित होगी।

1. सबसे पहले योजना बनाएं

किसी भी काम को करने के लिए सबसे पहले योजना बनाई जाती है। मतलब आप जिस टॉपिक पर स्पीच देना चाहते हैं, उस टॉपिक के बारे में आपको पूरी तरह जानकारी होनी चाहिए।

मान लीजिए आप भारतीय सेना पर एक मोटिवेशनल स्पीच देना चाहते हैं तो उसके लिए आपको भारतीय सेना के बारे में जैसे , भारतीय सेना का गठन, भारतीय सेना की उपलब्धियां, भारतीय सेना के विभिन्न प्रकार के पद, भारतीय सेना की मुख्य भूमिका इत्यादि के बारे में आपको अध्ययन कर लेना चाहिए। ताकि अगर कोई व्यक्ति आप से किसी भी प्रकार का सवाल पूछे तो आप उसका जवाब आसानी से दे सकें।

अपने मुख्य बातों को एक छोटे से पेपर में संक्षिप्त में लिख लें और उसे हमेशा अपने साथ रखें। ताकि आपको पता चले कि कब और क्या बोलना है।

2. हमेशा अभ्यास करें।

बेहतरीन पब्लिक स्पीकर बनने के लिए आपको हर दिन कुछ ना कुछ नया सीखते रहना चाहिए और उसका अभ्यास करते रहना चाहिए। अंग्रेजी में एक कहावत है “Practice Makes Perfect” मतलब आप किसी भी चीज का जितना अभ्यास करेंगे आप उसमें उतना ही बेहतर बनते जाएंगे।

हमेशा किसी भी टॉपिक पर, आईना (Mirror) के सामने खड़ा होकर स्पीच देना चाहिए। जिससे आपको पता चलेगा कि आपका बॉडी लैंग्वेज स्पीच देते समय कैसा होना चाहिए।

3. दर्शकों के साथ घुल-मिल जाना।

कभी भी स्पीच देते समय लगातार सिर्फ बोलते ही नहीं रहना चाहिए। अपने दर्शकों के साथ घुल-मिल कर स्पीच को आगे बढ़ाना चाहिए।

जैसे बीच-बीच में प्रश्न पूछ लेना, कुछ मनोरंजक रूपी (हास्य पद) बातें करना, लोगों को प्रश्न पूछने का मौका देना इत्यादि। आप छोटी-छोटी प्रेरणादायक कहानियां भी सुना सकते हैं। लोग कहानियों को सुनना ज्यादा पसंद करते हैं।

4. शारीरिक हाव-भाव पर ध्यान देना।

एक आकर्षक और बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग के लिए शारीरिक हाव-भाव का बहुत महत्व होता है।

आपका शारीरिक हाव-भाव आपके बारे में बहुत कुछ बताता है। अपने शरीर को आत्मविश्वास पूर्ण रखें।

मंच पर धीरे-धीरे पोजीशन बदलते रहे और अपनी बातों के साथ-साथ अपने हाथों का भी इस्तेमाल करें। जिससे लोगों का ध्यान आपकी तरफ आकर्षित रहेगा।

अपनी शारीरिक हाव-भाव को आप आईने के सामने खड़ा होके स्पीच देकर देख सकते हैं। जरूरत पड़ने पर इसमें सुधार कर सकते हैं।

5. हमेशा सकारात्मक रहें।

अगर आप हमेशा सकारात्मक सोचते हैं और सकारात्मक कार्यों को करते हैं तो आप अपने मुकामों को जरूर हासिल करेंगे। ऐसा सफल लोगों का मानना है।

कोई भी व्यक्ति अगर आपकी बुराई करता है तो आप उसे सकारात्मक तरीके से अपने जीवन में उतारे। जैसे अगर कोई व्यक्ति आपके कमियों को लेकर आप का मजाक उड़ाता है। तो आप उस कमी को अपने जीवन से हटा दे।

कुछ कमियां हटाने लायक नहीं होती तो ऐसे लोगों पर ध्यान देना छोड़ दे। क्योंकि आप अपने जीवन में उससे भी ज्यादा महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं।

6. घबराहट को दूर करें।

हर व्यक्ति जब वह पहली बार किसी बड़ी मंच पर जाता है तो उसे घबराहट होती है। यह लगभग हर व्यक्ति में होता ही है। कुछ लोग इस घबराहट को दूर कर लेते हैं तो कुछ लोग असफल हो जाते हैं।

आपको घबराहट दूर करना है। इसके लिए आप गहरी सांसे ले और अपने बातों को लोगों के सामने रखें। अगर आप कोई गलती करते है तो करें ! लेकिन यह ध्यान रखें की वही गलती आप दोबारा ना दोहराए। उस गलती को दोहराने से पहले सुधार लें। अन्यथा आपको मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

7. खुद के भाषण की वीडियो देखें।

यह सबसे अच्छा ट्रिक है। आप अपने भाषण की वीडियो अकेले में ही रिकार्ड करके उसे देखें। आपको जरूर पता चलेगा कि आप में क्या बदलाव करनी है।

बदलाव करने के लिए सफल लोगों के वीडियो देखें। उनके शारीरिक हाव-भाव और उनके हर एक शब्द को अच्छे से सुने। इससे आप में बहुत ही बदलाव आएगा।

8. दर्शकों की मानसिकता।

स्पीच के बाद लोगों से अपने स्पीच के बारे में राय ले। उनके राय के अनुसार अपने अंदर बदलाव करें।

स्पीच खत्म होने के बाद आप बाहर दर्शकों में से किसी एक व्यक्ति को प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से अपने स्पीच के बारे में पूछें।

इससे अपने स्किल्स को बढ़ाने में बहुत मदद मिलेगी।

9. किताबें पढ़ें।

आप सफल लोगों के किताबों को पढ़ें। इससे आपकी कम्युनिकेशन स्किल्स बढ़ेगी और साथ ही साथ आपको दूसरे लोगों के जीवन से कुछ नया सीखने को मिलेगा।

आप मोबाइल या लैपटॉप पर किताबें डाउनलोड करके कभी ना पड़े। मार्केट से अपने लिए किसी सफल व्यक्ति की किताबें खरीद कर लाए और इसे पढ़ें।

इसके साथ-साथ आपको महान व्यक्तियों की जीवनी को पढ़ना चाहिए। इससे आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

महान व्यक्ति इलोन मस्क की जीवनी यह है दुनिया का असली आयरन मैन।

किसी भी यूट्यूबर की मंथली इनकम कैसे पता करें।

10. अपने काम के प्रति भूखा रहें।

कभी भी अपने को यह ना लगने दें कि बस अब मेरा काम खत्म हो गया। मुझे जो चाहिए था वह मिल गया अब मुझे कुछ नहीं करना चाहिए।

ऐसी करने वाले व्यक्ति का धीरे-धीरे सर्वनाश होने लगता है और इन्हें पता भी नहीं चलता है।

हमेशा महत्वकांक्षी बने। नई-नई चीजें रोज सीखा करें। जिसे तेजी से बढ़ती हुई दुनिया को टक्कर दे सके।

आज के समय में

जो सीखना छोड़ दिया वह मर गया।।

ना कि जो डर गया वह मर गया।

इस पर ध्यान पूर्वक विचार करें।

आपने क्या सीखा:-

आपने सीखा की पब्लिक स्पीकिंग क्या होती है और आने वाले जीवन में इसकी कितनी महत्त्व है।

आपने 10 बेहतरीन पब्लिक स्पीकिंग के तरीके को विस्तार से समझा है। अब आप इन तरीकों को अपने जीवन में उतारेंगे तो एक दिन आप जरूर एक अच्छा पब्लिक स्पीकर बनेंगे।

और यह स्किल दूसरे लोगों को भी सिखाएंगे।

Leave a Comment

Your email address will not be published.